तुम्हारे बिना

माना कि हम कुछ भी नही तुम्हारे लिये,

लेकिंंन तुम सब कुछ हो हमारे लिये।

हमारी सबसे बडी दौलत तो तुम ही थे,

अब सब कुछ कंगाल है तुम्हारे बिना।

बची है तो केवल वो यादे ,जिनमे केवल तुम थे।

जिनके सहारे जीना अब मुश्किल सा हो गया है।

जल चुके हैं हम, इस तन्हाई की आग मे।

बची है तो केवल वो राख ,

जो अक्सर हवाओ के झोंके आने का इन्तजार करती रहती हैं ।

और उन झोंके के साथ तुम्हारी यादे फिर से जिन्दा हो जाती है ।

और ये सिलसिला लगातार चलता रहता है

बस खटकती है तो तुम्हारी कमी

जिन्हे तुम्हारे लौट आने की और फिर से मिल जाने की उम्मीद हमेसा बनी रहती हैं।

कमी

वादा है तुमसे एक दिन सब कुछ होगा ,जो कल तक नही था ,सिवाय तुम्हारे।

और तुमसे मिलने की ख्वाहिश हमेशा रहेगी।

फर्क इतना ही है सब चीजे वक्त पर हो तभी अच्छी लगती है,

बाद मे उनका होने का भी कोई फायदा नही,

वैसे ही तुम्हारी कमी हमेशा रहेगी।

Purpose day

तुमसे जुदा होने के बाद तो हमारे लिये हर दिन ही purpose day है।

कोई ऐसा वक्त और लम्हा नही जिसमे तुम साथ नही।।

तुम्हे कल भी प्यार करते थे,और आज भी करते है,और हमेशा करते रहेंगे।

बस अन्तर केवल इतना है,अब वादो से भरोसा उठ गया हैं।

गुजरते हुवे साल का अन्तिम खत तुम्हारे नाम

एक रोज किसी ने कहा इश्क़ पे इतना क्यू लिखते हो,

हमने भी कह दिया, दीदार नही कर सकते उनका तो क्या

प्यार भी नही करे?

ये वही शब्द है, जो कहने तो उनको होते है ,

पर दिल का जरिया अलग है कहने का।

सिर्फ तारीखो में बदलेगा ये साल,

ख्वाहिशो में तो हमेसा तुम ही रहोगे।

और इस जाते हुए साल ,

एक ही विनती करेंगे तुमसे,

मोहब्बत न कर सको हमे परवाह नही,

बस बदनाम न करना हमारी मोहब्बत को।

प्यार और परवाह ही तो की थी

और करते रहेंगे जिन्दगी भर,

बेवफा होने पर भी तुम्हारे अलावा किसी और को

अपना ये दिल मानता ही नही।

क्यूँ की…. मोहब्बत अब पछताते है बहुत

क्युकी ये मोहब्बत

हसीन सपने दिखाकर, रुलाती है बहुत।।

तुम्हारे बिना😓

तुम्हारे बिना जिंदगी ही नीरस हो गई है,

हर सुबह शाम तुम्हारी यादें तडपाती हैं।

अब तुम साथ नही हो, ये जानते हुवे भी ये दिल ,

तुम्हारी एक झलक पाने को बेताब नज़र आता हैं।

तुम्हारे बिना हर खुशियाँ फीकी सी नजर आती हैं,

जिन्दा रहकर भी तुम्हारे इन्तजार मे मरे जारे है।

हर तरफ खामोशियां ही नज़र आती है,

लगता है खुशियां भी तुम्हारे साथ ही

हमसे रिश्ता तोडकर चली गई है

और गम से वास्ता जोड़ गई है ।